छत्तीसगढ़जांजगीर-चाम्पा

डभरा तहसील में धान खरीदी को लेकर बड़ा भ्रष्टाचार सामने आ रहा है?

मोहन बना चोर कर दी लाखों की झोल ….अब देखना ये है की कका है कि नहीं मेहरबान या इनके रिस्तेदारी में है कोई विधायक कि पहचान

जांजगीर चांपा-: जिले के डभरा तहसील में धान खरीदी को लेकर बड़ा भ्रष्टाचार सामने आ रहा है … अमलडीहा मंडी में रकबा चोरी करके दूसरे किसान के माध्यम से लाखों की कमाई कि गई है बताया जा रहा है की बड़े नेताओं का संरक्षण बना हुआ है अब ऐसे स्थिति में कानून इन भ्रष्टाचारी प्रबंधक पे क्या कुछ कार्यवाही कर पाती है देखना लाजमी होगा ।
शासन के नियम कायदे को ताक में रख कर प्रबंधक अपने स्वयं के नाम से दूसरे का रकबा अपने नाम करके पंजीयन करवा लिया और जिस किसी किसान का भी रकबा उठाकर प्रबंधक द्वारा अपने आकाओं के आदेशित अनुसार पंजीयन में जोड़ा जा रहा है आपको बता दे कि पिछले वर्ष मोहनलाल पिता प्रेमलाल द्वारा 120 क्विंटल धान बेंचा गया था किन्तु इस वर्ष 392 क्विंटल , गंगाराम पिता अंजोर सिंह द्वारा पिछले वर्ष 68 क्विंटल और इस वर्ष 186 क्विंटल ,धनीराम पटेल पिता बरतराम पटेल द्वारा पिछले वर्ष 40 क्विंटल और इस वर्ष 126 क्विंटल अब ऐसे स्थिति में जाहिर सी बात है कि प्रबंधक दिन दुगुनी और रात चौगुनी तो करेगी ही इन तमाम कारनामों की जानकारी बहुत जल्द प्रदेश के मुख्या किसान पुत्र भूपेश बघेल से कि जायेगी आपको बता दे छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री किसानों के हित में किसानों को उनके मेहनत का पाई पाई का किम्मत दे रही है लेकिन कुछ छुटभाइयों नेता द्वारा अपनी रोटी सेकने में मस्त है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.