छत्तीसगढ़सारंगढ

पत्रकार अपनी आंखें बंद कर ले, तो पूरी व्यवस्था निरंकुश हो जायेगी।

स्वस्थ लोकतंत्र को आकार देने में पत्रकार महत्वपूर्ण भूमिका निभाता ,लोकतंत्र की रीढ़ है पत्रकार-: नरेश चौहान जिलाध्यक्ष ABPSS

पत्रकार अपनी आंखें बंद कर ले, तो पूरी व्यवस्था निरंकुश हो जायेगी।स्वस्थ लोकतंत्र को आकार देने में पत्रकार महत्वपूर्ण भूमिका निभाता और, यह लोकतंत्र की रीढ़ है। सच्चा पत्रकार दर्पण की तरह है, जो हमें सच्चाई और कठोर वास्तविकताओं को दिखाने का प्रयास करता है। पिछले कुछ वर्षों में पत्रकारों पर लगातार हमले बढ़े हैं, पत्रकारों की देश भर में हो रही लगातार हत्याओं से अब पत्रकार और उनके परिवार मे एक अनहोनी आशंका हमेशा घेरे रहती है। शांत और अमन चैन को परिभाधित करने वाले सारंगढ़ मे भी थाने मे गई गयी शिकायत के अनुसार पत्रकार जगत के साथ आम जनमानस को सोचने और सहमने पर मजबूर् कर दिया जब खबर छपने से बौखलाए कम्प्यूटर आपरेटर ने कथित तौर पर अपने 3 साथियों के साथ मिलकर एक पत्रकार को जान से मारने की साजिश रच रहे थे। शराब के नशे मे चूर हलधर लहरे अपने साथियों के साथ पहले सारंगढ़ शराब भट्ठी के तालाब के पास बैठकर साथियों के साथ छककर शराब पिये फिर ढाबे मे बैठकर प्लानिंग के तहत पत्रकार नरेश चौहान को सुनसान इलाके मे बुलाकर जान से मारकर फेंकने की साज़िश रच रहे थे। वहीं ढाबे पर बैठे पत्रकार नरेश चौहान के मित्र ने जब अश्लील गाली और मर्डर की प्लानिंग के बारे मे सुना तो होश उड़ गये। नरेश मेरा मित्र है उसे क्यों गाली दे रहे हो और जान से क्यों मरोगे कहने पर शराब के नशे मे चूर हलधर और उनके दो साथियों ने सहदेव और उसके साथियों पर गाली गलौच करते हुवे जानलेवा हमला कर दिए। हमला इतना खतरनाक था गई दाँत टूटकर 2 इंच गहरा घाव बन गया,चारो ने मिलकर सहदेव और कांशीराम से उनका मोबाइल, हेडफोन, पैसा भी लूट लिया जिसकी लिखित शिकायत पत्रकार नरेश चौहान और ढाबे मे हमले के शिकार हुवे सहदेव और काशीराम मे थाने मे दर्ज कराई है।

पत्रकार नरेश चौहान के शिकायत के अनुसार –

नरेश चौहान अध्यक्ष अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति अध्यक्ष और, जिन्होंने कोसीर परियोजना कार्यालय के अधिकारियों एवं कर्मचारियों कम्प्यूटर द्वारा कार्यालय में उपस्थित न होकर अपने से संचालन करने तथा परियोजना कार्यालय में कार्यकर्ता सहायिका को डराने धमकाने के संबंध में खबर प्रकाशित किया । खबर प्रकाशन से बौखलाए हलघर लहरे द्वारा पत्रकार नरेश चौहान के साथियों को पूर्व में धमकी भी दिया गया था। लेकिन दिनांक 05/08/2022 को सारंगढ देशी शराब दुकान जमीनदार तालाब के पास नशे में चूर हलधर अपने अपने साथियों द्वारा एक संगत राय होकर पत्रकार नरेश चौहान को जान से मारने की योजना बना रहे थें। जहां पत्रकार चौहान का साथी भी उपस्थित था, जो उक्त बातों को सुना और पत्रकार नरेश चौहान को अवगत कराया, जिसे सुनकर नरेश चौहान ने थाने मे लिखित शिकायत दर्ज कराई और कहा की वह पत्रकारिता व राजनैतिक क्षेत्र में कार्यकर्ता है जिसे उसे कहीं भी कभी भी अकेले आना-जाना होता है, हलधर लहरे और उसके साथियों द्वारा जान से मारने की योजना बनाने से अत्यन्त ही भयभीत व डरे सहमें सा है कि कहीं उसे अकेले पाकर कोई गंभीर घटना अथवा जान से न मार देवें। साथ ही पत्रकारबने आशंका जाहिर की है कि हलधर एवं साथी उनके परिवार पर आप अप्रत्याशित घटना कारित कर सकते है।

कम्युटर ऑपरेटर हलधर, रोशन लहरे और साथियों पर लूट-पात और जानलेवा हमला के नाम पर भी शिकायत –

सहदेव और काशीराम खांडे द्वारा आप पुलिस मे शराबी और गुंडे कम्प्यूटर ऑपरेटर हलधर लहरे और साथियों पर लिखित शिकायत दर्ज कराते हुवे कहा गया है कि
दिनांक 05/08/2022 दिन शुकवार को रात्रि लगभग 9 से 10 के बीच में कृष्णा ढाबा हरदी में खाना खाने गए थे, जहाँ हलधर,रोशन लहरे अपने अन्य साथियों के साथ ढाबा में पहले से बैठकर दारू पी रहें थे, सहदेव का पुराना जान-पहचान होने के कारण हलधर से बात-चीत करने लगे तब हलधर द्वारा नरेश चौहान जो ग्राम बोरिदा का रहने वाला है, को मॉ बहन की अश्लील गाली-गलौज कर जान से मारने के लिए साजिश रचने की बात की जानकारी हुवी तो बातों ही बातों मे सहदेव ने बताया की नरेश चौहान हमारे जान-पहचान का है उसको क्‍यों गाली-गलौज और जान से मारने की बात कर रहें हो, इतना बोलने पर आग बबूला होकर रोशन लहरें जो ग्राम नंदेली का है ने कांशीराम को गला दबाकर मुंह को मुक्के से मारते हुए तुम कौन होते हो नरेश को बचाने वाले हम लोग उसे जान से मारकर ही रहेंगे का कथन करने लगे,तब कांशीराम के साथ सहदेव कुमार बीच बचाव करने लगा, तब रोशन ,हलधर जो 4 लोग थे,उठे और कोई डंडा ले आया और कोई होटल का चिमटा वगैरह लेकर सहदेव और कांशीराम से मारपीट करने लगे। उपरोक्त हमला से कांशीराम के ढाढी मे चोट आयी तथा सामने वाला दांत टूट गया व बाकी दांत हिल रहा है एवं ढ़ाढ़ी में 2 इंच घाव बन गया है, कांशीराम बेहोश हो गया। जिसे बचाने सहदेव कुमार आया और इसे भी चारों ने बेरहमी से हाथ मुक्का,डंडे व चिमटा से मारपीट किए है,जिससे सहदेव के पैर माड़ी में गंभीर चोट आया है,उक्त घटना को वहां उपस्थित कृष्णा ढ़ाबा के कर्मचारी देखे व सुने है, तथा अन्य द्वारा बीच-बचाव करने पर से आवेदकगण किसी तरह अपने जान को बचाकर अपने साथी कांशीराम जो बेहोश हो गया था, को सहदेव अपने साथ लेकर भागे जिससे उसकी जान बच सकी, शराब के नशे मे हलधर और साथियों ने सहदेव के जेब में रखें 700 रू, नगद व ओप्पो कंपनी का मोबाईल एवं एयरफोन, मोबाईल नम्बर 9770751724 लूट लिए, तथा कांशीराम का भी मोबाईल नम्बर 8928242213 जो रेडमी कंपनी का व जब से 450 रू रखा था उसको भी लूट लिए। सहदेव ने थाना सारंगढ़ के 112 वाहन को फोन कर उक्त घटना का तात्कलिक समय में अपने मोबाईल नम्बर 9770751724 में फोन कर बता दिया था।

सारंगढ़ के फ़िज़ा मे ज़हर घोलने वालों पर होगी कठोर कार्रवाई –

इस मामलें की जानकारी लेने पर सारंगढ़ के दबँग थानेदार सीताराम ध्रुव् ने कहा की सारंगढ़ मे किसी भी तरह का अपराध बर्दास्त नही किया जाएगा। जाँच मे जो भी दोषी साबित होगा कठोरतम और न्यायोचित कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.